देवभूमि में दर्दनाक हादसा, पहाड़ी से खिसकी चट्टान, एक की मौत, 2 घायल

बिजली परियोजना के तीन मजदूरों के साथ हादसा

न्यूजघाट टीम। किन्नौर
किन्नौर जिले के शौरंग परियोजना के कार्यस्थल पर पहाड़ी से चट्टान खिसकने के कारण पैनस्टोक लाइन का काम कर रहे ब्लास्टर की मौके पर ही मौत हो गई। सिविल मैनेजर गंभीर रूप से घायल हो गया है। जबकि व्यक्ति मशीन ऑपरेटर को सामान्य रूप से चोटें आई हैं। गंभीर रूप से घायल सिविल मैनेजर को प्राथमिक उपचार के बाद रामपुर रेफर कर दिया है।

hids

गौरतलब है कि 100 मैगावाट की शौरंग परियोजना निर्माता कंपनी द्वारा बुरंग में उक्त परियोजना की पेन स्टोक लाइन का निर्माण कार्य किया जा रहा है। आज कंपनी द्वारा टाटा एक्सावेटर 210 मशीन से खुदाई का कार्य किया जा रहा था। इसी बीच अचानक पहाड़ी से भारी चट्टानें खिसक गईं। पहाड़ी से खिसकी चट्टान के नीचे मशीन और दो लोग दब गए। जबकि मशीन ऑपरेटर ने मशीन के दूसरी ओर खिड़की से छलांग लगा जान बचा ली। एसडीपीओ भावानगर मनोज जोशी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि घटना के समय परियोजना का सिविल मैनेजर नितिन बिष्ट और ब्लास्टर भूपेंद्र तोमर सहित ओपरेटर पवन कुमार ही कार्यस्थल पर थे। हादसे में ब्लास्टर भूपेंद्र ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। जबकि सिविल मैनेजर नितिन बिष्ट गंभीर रूप से घायल हो गया है।

मशीन ऑपरेटर पवन कुमार को हल्की चोट लगी हैं, उसे प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से घर भेजा गया है। मलबे में दबे लोगों को स्थानीय लोगों और मजदूरों द्वारा कड़ी मशक्त से निकाला गया। पहाड़ी से खिसकी चट्टान ने कार्य में लगी मशीन को तहस-नहस किया है। सिविल मैनेजर नितिन ने पहाड़ी चट्टान खिसकते हुए देखा था। उसने ऑपरेटर को सीटी बजा कर मशीन से बहार निकलने का इशारा किया था कि उतने में वह खुद ही पहाड़ी से खिसकी चट्टान की चपेट में आ गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.