- Advertisement -

आसमानी गोला निकला 84 एमएम एंटी टैंक असला

आर्मी ट्रेनिंग मे होता है इस्तेमाल, फटता तो होता भारी नुकसान

 

 

न्यूज़ घाट/नाहन

hids

दिवाली की शाम नाहन में अज्ञात लोहे की सख्त बमनुमा वस्तु 84 एमएम एंटी टैंक का असला निकला। जांच के दौरान मौके पर पहुंची पुलिस ने इसकी पुष्टि की है।

बताया जा रहा है कि यह ग्रेनेड का ही एक आर्टिकल था, जिसे सेना में युद्ध के समय इस्तेमाल किया जाता है। यदि यह फटता तो इलाके को भारी नुकसान पहुंच सकता था।
जिसमें लोग भी चोटिल हो सकते थे।

बताया जा रहा है कि जांच के दौरान पता चला कि इस पर मार्का भी लगा है। आम आदमी इसका इस्तेमाल नही कर सकता, न ही इसे तैयार कर सकता है। इस तरह का असला सेना में ही इस्तेमाल होता है। जिस एरिया में यह असला गिरा है, वहां के लोग बाल-बाल बचे है। यदि यह फट जाता तो आग लग सकती थी, लोग घायल हो सकते थे। गनीमत यह रही है कि उस वक्त वहां पर लोग मौजूद नहीं थे और जिस व्यक्ति के पास यह गिरा है वह भी बाल-बाल बचा है।

संदेह जताया जा रहा है कि आर्मी की ट्रेनिंग के दौरान इसका इस्तेमाल किया गया हो, क्योंकि यह असला आम आदमी की पहुंच से दूर है और न ही आम आदमी इस तरह का असला तैयार कर सकता है।

गौरतलब हो कि दिवाली की शाम नाहन में अज्ञात वस्तु आसमान से गिरि थी। लोहे की सख्त नुमा गोला का कल यह पता नही चल पाया था कि यह कोई विस्फ़ोटक वस्तु है या नही। बुधवार को जब नाहन में लोग दीपावली मना रहे थे ओर चारों तरफ पटाखों की गूंज सुनाई दे रही थी। तभी अमरपुर मोहल्ले में आसमान से दुर्गेश शर्मा के लैंटर पर लोहे का यह गोला आ गिरा था। जिसको पुलिस ने कब्जे में ले लिया था। उक्त लोहे के ढक्कन का ऊपरी हिस्सा जरूर थोड़ा सा खुला हुआ था और इसमें उत्पादन तिथि 2008 अंकित है।

उधर, डीएसपी बबीता राणा ने बताया कि जांच में पाया गया है कि जिस तरह से ग्रेनेट होता है, उसी तरह का यह एक आर्टिकल था। इस पर जो मार्क दिया गया था, वह एटी-4 एमएम एंटी टैंक वेपेन का असला था। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी जांच जारी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!