- Advertisement -

केरल बाढ़ पीडीतों को हिमाचल से 2 करोड की दवाई का मरहम

मानवता हित में एचडीएमए उद्योग संघ आया आया

2

न्यूज़घाट टीम। बद्दी

भारी बाढ़ व प्राकृतिक आपदा से त्रस्त हिंदुस्तान के केरल राज्य के पीडीतों के लिए हिमाचल प्रदेश के उद्योग मरहम लगाने के लिए आगे आया है। हिमाचल प्रदेश दवा निर्माता उद्योग संघ (एचडीएमए) ने केरला बाढ़ पीडीतों के लिए दवाईयों से भरे दो ट्रक हरी झंडी दिखाकर रवाना किए।

यह ट्रक दिल्ली में ट्रक अनलोड करेंगे जहां से यह दवाईयां विशेष विमान से केरल पहुंचेगी। लगभग 2 करोड रुपये की औषधियों से लदे दोनो ट्रकों को सहायक ड्रग कंट्रोलर गरिमा शर्मा, ड्रग इंस्पेक्टर डा. कमलेश नायक, हिमाचल प्रदेश दवा निर्माता उद्योग संघ के अध्यक्ष डा. राजेश गुप्ता, महामंत्री मुनीष ठाकुर व सतीश सिंगला ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ट्रक रवाना करते समय प्रदेशाध्यक्ष डा. राजेश गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि केरला वर्तमान में भयंकर बाढ़ से पीडीत है और जब पानी धीरे धीरे कम होता तो वहां पर बीमारियां और महामारी फैलने का खतरा पैदा हो जाता है। तब हमारे द्वारा भेजी गई दवाईयां रामबाण का काम करेंगी। उन्होने बताया कि यह दवाईयां हमने हिमाचल प्रदेश के विभिन्न दवा उद्योगों से घर द्वार जाकर एकत्रित की है जिसके लिए हम सभी दवा उद्यमियों के आभारी रहेंगे क्योंकि यह मानवता के हित में उठाया गया एक बहुत बडा कदम है।

सहायक ड्रग कंट्रोलर गरिमा शर्मा ने कहा कि दवा निर्माता उद्योग संघ के इस कदम की जितनी भी प्रशंसा की जाए वो कम है। हिमाचल प्रदेश के फार्मा उद्योगों ने हर बार देश में जहां भी आपदा आई है वहां पर दवाएं भेज कर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस अवसर पर एचडीएमए के प्रदेशाध्यक्ष डा राजेश गुप्ता के साथ सहायक ड्रग कंट्रोलर हिमाचल सरकार गरिमा शर्मा, उद्योगपति मुनीष ठाकुर, लघु उद्योग भारती फार्मा विंग के प्रांतीय चेयरमैन सतीश सिंगला, प्रदीप गर्ग, कैमिस्ट एसोसिएशन बीबीएन के प्रधान मनोज कुमार कौशल व ड्रग इंस्पेक्टर डा कमलेश नायक सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

प्रदेशाध्यक्ष व महामंत्री ने समस्त दवा उत्पादों का आभार जताया जिन्होने इस यज्ञ में अपनी आहुति डाली। शीघ्र ही और दवाईयां केरला भेजी जाएंगी।

विस सत्र के चलते नहीं आ सके मंत्री-

दो करोड की दवाईयों के ट्रकों को हरी झंडी दिखाने के लिए पहले राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने आना था लेकिन विस सत्र में व्यवस्तता के चलते वह नहीं आ सके। उन्होने प्रदेशाध्यक्ष राजेश गुप्ता के माध्यम से संदेश भेजा की कि वह राज्य के दवा उत्पादों के आभारी हैं जिन्होने इस पुनीत कार्य के लिए कुछ ही समय पर उनके आहवान पर दो करोड की दवाएं एकत्रित कर दी।

Inside Post In Last

Leave A Reply

Your email address will not be published.