विकास के लिए पंचायत प्रतिनिधियों से तालमेल बिठाएं अधिकारी

जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक आयोजित, महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा

न्यूज़घाट टीम। सोलन

राज्य वित्तायोग के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में जिला परिषद द्वारा पंचायत समिति सोलन को 28 कार्यों के लिए 22.57 लाख रुपये, पंचायत समिति नालागढ़ को 88 कार्यों के लिए 67.60 लाख रुपये, पंचायत समिति धर्मपुर को 27 कार्यों के लिए 27.42 लाख रुपये, पंचायत समिति कंडाघाट को 27 कार्यों के लिए 19.77 लाख रुपये तथा पंचायत समिति कुनिहार को 29 कार्यों के लिए 20.91 लाख रुपये आबंटित किए गए हैं। यह जानकारी आज यहां जिला परिषद अध्यक्ष सोलन धर्मपाल चैहान ने जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

धर्मपाल चैहान ने कहा कि जिला परिषद की आज आयोजित बैठक में वर्ष 2018-19 के लिए जिला परिषद एवं पंचायत समितियों की शैल्फों का अनुमोदन भी किया गया है। राज्य वित्तायोग द्वारा जिला परिषद सोलन को एक करोड़ 98 लाख 52 हजार 360 रुपये, पंचायत समिति सोलन को 19 लाख 32 हजार 287 रुपये, पंचायत समिति धर्मपुर को 26 लाख 56 हजार 468 रुपये, पंचायत समिति कंडाघाट को 11 लाख 65 हजार 593 रुपये, पंचायत समिति कुनिहार को 25 लाख 32 हजार 637 रुपये तथा पंचायत समिति नालागढ़ को 49 लाख 47 हजार 910 रुपये की शैल्फ स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि जिला परिषद के सभी 17 वार्डों के लिए जनसंख्या के अनुपात में राशि स्वीकृत की गई है।

जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि जिला परिषद सदस्य एवं पंचायती राज प्रतिनिधि आमजन की समस्याएं सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के क्रियान्वयन एवं जन समस्याएं सुलझाने में सभी स्तरों पर जन प्रतिनिधियों से तालमेल स्थापित करें ताकि समस्याआंे का समाधान शीघ्र किया जा सके।

बैठक में लोक निर्माण, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग, हिमाचल पथ परिवहन निगम, शिक्षा, स्वास्थ्य, राजस्व, राज्य विद्युत बोर्ड, उद्योग तथा दूरसंचार इत्यादि विभिन्न विभागों से संबंधित 62 मदों पर चर्चा की गई। संबंधित विभागों के अधिकारियों ने विभागीय मदों पर हुई कार्यवाही के संदर्भ में सदन में प्रगति बारे जानकारी प्रदान की।

जिला परिषद के उपाध्यक्ष जगन्नाथ शर्मा ने नालागढ़-धरमाणा बस को वाया गावर, मोड़ स्वारघाट करने तथा रात्रि ठहराव स्वारघाट में करने की मांग की। उन्होंने नेरली से चरनग तक सड़क निर्माण, सौर तथा डोली के मध्य गंभर खड्ड पर पुल निर्मित करने तथा भ्यूंखरी-चनौली सड़क पर पुल निर्माण की मांग की।

hids

जिला परिषद सदस्य सुनीता गर्ग ने अर्की-चंडीगढ़ बस सेवा को सुचारू रूप से चलाने, अर्की से हरिद्वार तक सीधी बस सेवा आरंभ करने तथा ग्राम पंचायत बनोह खरड़हट्टी में हैंडपंप स्थापित करने की मांग की।

जिला परिषद सदस्य रामकृष्ण ने दाड़लाघाट में मल निकासी के लिए लाइन स्थापित करने, चांडा-कांगरी पेयजल योजना से स्कोर गांव के लिए पेयजल आपूर्ति आरंभ करने, मांगू से मण्डप तक सड़क निर्माण तथा सरडमरास में सड़क पर पुल निर्माण की मांग की।

जिला परिषद सदस्य सत्या कौशल ने ग्राम पंचायत हरिपुर में हैंडपंप स्थापित करने, सतडोल से बंगयार वाया शारडाघाट मार्ग पर पथ परिवहन निगम की बस सेवा शीघ्र आरंभ करने, क्षेत्रीय की विभिन्न ग्राम पंचायतों में सौर ऊर्जा चलित लाईटें स्थापित करने की मांग की।

अन्य सदस्यांे ने पेयजल आपूर्ति, विद्युत आपूर्ति, सड़क एवं पुल निर्माण इत्यादि के संबंध में क्षेत्र की मांगें प्रस्तुत की।

अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विवेक चंदेल ने जिला परिषद सदस्यों विश्वास दिलाया कि जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न मामलों को समय पर निपटाया जाएगा तथा विकास कार्यों को निर्धारित समय पर पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जन समस्याओं को जन प्रतिनिधियों के साथ बेहतरीन तालमेलन बिठाकर समस्याओं का निपटारा करें।

जिला पंचायत अधिकारी सतीश अग्रवाल ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया।

बैठक में पुलिस उपाधीक्षक सोलन अमित ठाकुर, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सोलन सुरेश कुमार सिंघा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. आरके दरोच, राज्य बिजली बोर्ड के अधिशासी अभियंता सीएस चावल, वन मंडलाधिकारी कुनिहार एसके नेगी, उपनिदेशक उद्यान बीएस गुलेरिया, उपनिदेशक कृषि आरएन ठाकुर, उपनिदेशक उच्च शिक्षा पूनम सूद, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग अर्की के अधिशाषी अभियंता जेएस चैहान, लोक निर्माण विभाग कसौली के अधिशाषी अभियंता रवि भट्टी, लोक निर्माण विभाग अर्की के अधिशाषी अभियंता अजय कुमार सोनी, अधिशाषी अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग अरविंद शर्मा, विभिन्न विकास खंड अधिकारी, जिले के अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.